घर के नीचे दबी मिली गुफा

son-doong-cave-caves-forests-hang-landscapes-2400x1350-wallpaper

पुराने जमाने में बाहरी आक्रमण से बचने के लिए लोग गुफाओं का सहारा लेते थे। इन गुफाओं को छुपा कर रखा जाता था। ताकि बाहरी लोगों का ध्यान इन पर ना पड़े। इनमें कई कीमती चीजें भी छुपाई जाती थी। ऐसी बहुत सी प्राचीन गुफाएं पुरातत्व खोजकर्ताओं को मिल जाती हैं।

लेकिन अगर आपके घर मे ही आपको कोई गुफा मिल जाए तो!
नामुमकिन लगने वाली यह बात दरअसल सच है। जी हाँ ऐसा हकीकत में हुआ है। इंग्लैंड के नाटिंघम में। दरअसल पढ़ने के लिए यहां आई ये छात्राएं एक किराये के मकान में रहती थी। पुराना होने के कारण उन्हें यह मकान सस्ते में मिल गया। उनकी माने तो जब भी वो ऊँची आवाज में बाते करती थी तो उनकी आवाज गूंजती थी।

Also Read-उत्तर प्रदेश के राजनीतिक मंच पर डांसरों के ठूमके!

शुरुआत में नहीं दिया इस और ध्यान:

छात्राओं ने बताया की शुरुआत के दिनों में उन्होंने आवाज गूंजने वाली घटना की तरफ कोई ख़ास ध्यान नहीं दिया। उन्होंने इसे कोई साधारण बात समझा। उन्होंने बताया कि जब भी वो तेज आवाज में चिल्लाती, उन्हें ऐसा लगता मानो वो किसी बड़े हाल में बाते कर रही हैं।

लगने लगा डर:

उन्हें इस अजीब आवाज से पहले तो कोई फर्क नहीं पड़ा मगर बाद में उन्हें इससे डर लगने लगा।कई दिन तक वो अपने दोस्तों के घर में बिताती। यहां तक की उन्होंने नया घर तलाशना भी शुरू कर दिया।

कारपेट के नीचे मिला खुफिया दरवाजा:

कई दिनों तक डर में रहने के बाद उन्होंने अपने घर की छानबीन करने का निश्चय किया। इसी छानबीन के दौरान उन्हें अपने घर के फर्स पर कारपेट के निचे एक दरवाजे नुमा आकृति मिली। इसे खोलने के बाद उन्होंने पाया की वो इतने दिनों से एक गुफा के ऊपर रह रही थी।

Also Read-बिन पानी सब सून, कण्ठ भीगे ना चून

200 साल पुरानी है गुफा:

गुफा मिलने के बाद उन्होंने इसके बारे में पुरातत्व खोजकर्ताओं को बताया। खोजकर्ताओं ने पाया की 6 गुना 4 फ़ीट की यह गुफा 200 साल पुरानी है।

Leave a Reply