सिर्फ जिद्धि आदमी ही इतिहास रचता है!

सिर्फ जिद्धि आदमी ही इतिहास रचता है!

केवल जिद्धि आदमी ने इतिहास रचा है इतिहास केवल वहीं आदमी रचता है जिसके मन में कोई जिद आ गई हो। कोई भी संस्था अगर सफल हुई, कोई भी अकेला अगर सफल हुआ है, कोई भी बड़ा परिवर्तन आया है, उसके लिए आदमी को अपने मन में एक जिद लानी पड़ती है। दशरथ मांझी इतनी बड़ी कठिनाई में थे जिसके बारे में आप सब जानते है दशरथ मांझी की पत्नी लेबर दर्द के कारण वो पहाड़ जो 55 km का था उसको पार नहीं करा पाये उसको हॉस्पिटल नहीं लेकर जा पाए उस आदमी को जिद आ गई 22 साल लग गये 55 km का पहाड़ एक छैनी और हथोडा लेकर तोड़ डाला। एक source motivation का होता है। believe system में वो ताकत है जो आदमी को कुछ भी करने को तैयार कर सकती है। आप जानते है मंडेला 27 साल जेल में पड़े रहे कोई profit नहीं incentive नहीं पर believe system बड़ा powerful था।

गाँधी इतना बड़ा परिवर्तन लेकर क्यों लेकर आये? क्युकी उन्हें ट्रेन से पहले दर्जे की टिकट South Africa से धक्का देकर बाहर निकाल दिया अंग्रेजो ने, अंग्रेजो ने क्या बोला तेरे को हक़ नहीं पहले दर्जे की टिकट लेकर पहले डब्बे में बैठने का , गाँधी ने क्या बोला मेरे पास टिकट है! तू नहीं बैठ सकता बाहर निकल यहाँ से, गाँधी ने क्या जवाब दिया तुमंने मुझे ट्रेन से निकाला है come to my country I will show you में तुम्हे पूरे देश से बाहर निकाल दूंगा। एक आदमी कभी भी इतिहास रचता है किसी जिद के कारण एक believe system कें कारण ये believe system कमजोर भी हो सकता है और मजबूत भी, ये believe system ordinary भी हो सकता है Extra Ordinary भी हो सकता है।

Also Read-How to motivate yourself in depression?

मेरि कॉम जो बचपन से बहुत तकलीफ़ो के साथ रही। एक लड़के को उसने North East के एशियाई गेम जीतते हुए देख लिया उस दिन उस लड़की को जिद आ गई की में खुद अपने राज्य का नाम करुगी, उस दिन उसको जिद आ गई, बहुत बड़ी हो चुकी थी लेकिन फिर भी उसने कमाल कर दिया। लोग जब भी कमाल करते है किसी जिद के कारण करते है ordinary mentality के लोग ordinary जीवन बिताकर के मरके चले जाते है, संसार में उनको कोई नहीं पूछता केवल extra ordinary आदमी ही कर सकता है कोई हिंदुस्तानी जो भगत सिंह के बारे में ना जानता हो उसके पिता जी ने बोला, उसकी माँ ने बोला बेटा तेरी शादी तय हो गयी है, तेरी शादी तय हो गयी है, कानपूर चिठ्ठी लिखकर के भाग गये वहा से बोले मैंने अपना शरीर अपने देश को दे दिया है। बहुत बड़े कारण के लिये एक लडकी को नहीं देना चाहता ये जीवन पुरे देश को देना चाहता हु, बड़े जिदी आदमी थे आज एक जिद्दी आदमी ही कोई बड़ा क़ाम कर सकता है उसके लिए चाहिए believe system यहाँ तक की कोई भी व्यक्ति लिंकन हो या गाँधी हो या मंडेला हो या कोई भी हो हर आदमी के जीवन में बड़ा सघर्ष था उन्होंने एक काम किया Bounce back , if you don’t help you to help yourself Nobody in the world can help you to help yourself. 

एक व्यक्ति तभी इतिहास रचता है जब वो जिद्धि हो जाता है जिद को बड़ा करना चाहिए। जिद को पालो जिस दिन इतनी हिम्मत आ गई आप अपनी जिद को पालकर बड़ा कर गए। आपको सफलता के नए रास्ते मिल जायगे अगर नहीं मिले तो खुद आप अपना रास्ता बना लेगे।

Leave a Reply