Home / Tag Archives: sad

Tag Archives: sad

गोली सरहद पे खा रहा है कोई

breakup-poem

बेसबब मुस्कुरा रहा है कोई। दर्द शायद छुपा रहा है कोई।। सर्द मौसम में ज़र्द पत्तों सा। ख़्वाहिश-ए-दिल जला रहा है कोई।। माँ के जाने के बाद भी मुझको। दे के थपकी सुला रहा है कोई।। घर सजाने के वास्ते घर से। शै पुरानी हटा रहा है कोई।। साँस छूटे …

Read More »

5 tips to hide your Emotions

hide your Emotions

1) Take a breath We’ve discussed the good thing about taking a profound breath while aiming to be calm within an earlier post(This is how you use your breath to be calm and relax). The identical reasoning applies here too. Aside from the apparent good thing about amplifying the way …

Read More »

ग़म को दिल में बसा लिया हमने

20170205161458

☆☆☆☆गजल☆☆☆ ग़म को दिल में बसा लिया हमने। ग़म को अपना बना लिया हमने।। जब दियों को बुझाने वो निकले। खुद को सूरज बना लिया हमने।। बेच कर कह रहा है वो ईमां। देखो पैसा कमा लिया हमने।। चाँद, तारों की अन्जुमन में था। उसको छत पर बुला लिया हमने।। …

Read More »

उस नशीली रात में

उनकी आँखों में नूर देखा था हल्का हल्का सुरूर देखा था   उस नशीली रात में मैने एक हसीं कोहेनूर देखा था भर लूं आगोश में उन्हें ऐसा ख़ाब मैने ज़रूर देखा था पास आते गए वो मेरे पर खुदको तन्हा सा दूर देखा था सच बताऊँ तो उनसे यूं …

Read More »

एक कहानी जिंदगी

एक कहानी जिंदगी hindi poem

गिरता रहा, उठ उठ चलता रहा। बेबसी की आग में पर जलता रहा। कह दिया दिल से रुक जा बस अब बहुत हुआ। कहने को क्या सुना नही कोई, चिल्लाता रहा मचलता रहा। अग्नि मेरे गुस्से की, लहू भाप बन उड़ता रहा। कलश बनके दिल मेरा, पाप भर गढ़ता रहा। …

Read More »